Foxconn will manufacture iPhone accessories :कर्नाटक में ₹8,800 इन्वेस्ट करेगी फॉक्सकॉन: CM सिद्धारमैया के साथ बैठक में कंपनी ने रखा प्रस्ताव, आईफोन स्क्रीन सहित अन्य एक्सेसरीज करेगी मेन्युफेक्चर करेगी |ताइवान की इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी फॉक्सकॉन ने कर्नाटक सरकार के साथ 8,800 करोड़ रुपए के एक और इन्वेस्टमेंट की बात की है। यह जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से दिए गए एक बयान से मिली है।

image 154
Foxconn will manufacture iPhone accessories : आईफोन एक्सेसरीज मेन्युफेक्चर करेगी फॉक्सकॉन 3

फॉक्सकॉन दुनिया की सबसे बड़ी कॉन्ट्रैक्ट इलेक्ट्रॉनिक्स मेकर कंपनी है। मेटल से लेकर ऑयल तक के कारोबार में शामिल वेदांता ने पिछले साल फॉक्सकॉन के साथ एक समझौते पर साइन किये थे। इसके तहत गुजरात में सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले प्रोडक्शन प्लांट बनाया जाना था।

14,000 नई नौकरियों का वादा

फॉक्सकॉन इंडस्ट्रियल इंटरनेट के प्रस्ताव के अनुसार, निवेश के लिए 100 एकड़ भूमि की जरूरत होगी और इसके आने के बाद 14,000 नई नौकरियां पैदा होंगी। रिपोर्ट के अनुसार, इन्वेस्ट करने वाली फॉक्सकॉन की सहायक कंपनी के प्रतिनिधियों ने तुमकुरू में मौजूद जापान इंडस्ट्रियल टाउनशिप का दौरा भी किया।

 भारत में सेमीकंडक्टर मैन्यूफैक्चरिंग (Semiconductor Manufacturing) को झटका लगा है। ताइवान की दिग्गज कंपनी फॉक्सकॉन (Foxconn) चिप मैन्यूफैक्चरिंग के लिए वेदांता (Vedanta) के साथ बने जॉइंट वेंचर से बाहर हो गया है। फॉक्सकॉन ने सोमवार को 19.5 अरब डॉलर के सेमीकंडक्टर जॉइंट वेंचर से बाहर होने की बात कही है। इससे पीएम मोदी की भारत में चिप मैन्यूफैक्चरिंग की योजना को एक झटका लगा है। फॉक्सकॉन दुनिया की सबसे बड़ी कॉन्ट्रैक्ट इलेक्ट्रॉनिक्स मेकर कंपनी है। मेटल से लेकर ऑयल तक के कारोबार में शामिल वेदांता ने पिछले साल फॉक्सकॉन के साथ एक समझौते पर साइन किये थे। इसके तहत गुजरात में सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले प्रोडक्शन प्लांट बनाया जाना था।

फॉक्सकॉन ने कहा, ‘फॉक्सकॉन ने तय किया है कि वह वेदांता के साथ जॉइंट वेंचर पर आगे नहीं बढ़ेगा।’ इस इलेक्ट्रॉनिक्स मेकर ने जॉइंट वेंचर से बाहर निकलने की वजह के बारे में नहीं बताया। फॉक्सकॉन ने कहा कि उसने सेमीकंडक्टर के एक महान विचार को रियलिटी में बदलने के लिए वेदांता के साथ एक साल से अधिक समय तक काम किया था। लेकिन अब जॉइंट वेंचर से बाहर निकलने का फैसला लिया गया है। कंपनी ने कहा कि यह म्यूचुअली डिसाइड हुआ है। अब यह पूरी तरह से वेदांता के स्वामित्व वाली इकाई होगी।

related post :-टाटा iPhone बनाने वाली पहली भारतीय कंपनी बनेगी

अप्रैल 2024 में चालू होगा प्लांट

इस साल फॉक्सकॉन और उसकी सहायक कंपनियों की ओर से कर्नाटक को दिया गया यह दूसरा इन्वेस्टमेंट प्रपोजल है। कंपनी ने इसी साल मार्च में एक फोन मैन्युफैक्चरिंग प्लांट बनाने के लिए बेंगलुरु एयरपोर्ट के पास इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इंडस्ट्रियल रीजन को चुना है, यहां कंपनी 8,000 करोड़ रुपए का इन्वेस्टमेंट करेगी। इस यूनिट के प्रोपोज्ड इन्वेस्टमेंट के साथ मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के अप्रैल 2024 से चालू होने की उम्मीद है।

image 155
Foxconn will manufacture iPhone accessories : आईफोन एक्सेसरीज मेन्युफेक्चर करेगी फॉक्सकॉन 4

वेदांता के साथ कैंसिल की थी डील

फॉक्सकॉन हाल ही में तब खबरों में थी, जब वेदांता के साथ गुजरात में सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट सेटअप करने की उसकी डील कैंसिल हो गई थी। उस समय के रिपोर्ट्स से जानकारी मिली थी कि वेदांता चिप्स बनाने के लिए जरूरी टेक्नोलॉजी हासिल करने में असमर्थ रही, जिसके कारण डील में लगातार देरी हो रही थी।

स्क्रीन और आउटर कवर बनाएगी कंपनी

मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी बयान में बताया गया कि सीएम सिद्धारमैया ने एक बैठक की अध्यक्षता की जिसमें फॉक्सकॉन इंडस्ट्रियल इंटरनेट के CEO ब्रांड चेंग और उनका प्रतिनिधिमंडल भी शामिल हुआ था। इस बैठक में देवनहल्ली में ITIR क्षेत्र में एक और सप्लीमेंट्री प्लांट बनाने के प्रस्ताव पर चर्चा हुई। बयान में कहा गया है कि फोन के लिए जरूरी मैकेनिकल कंपोनेंट के बजाए कंपनी, स्क्रीन और आउटर कवर मैन्युफैक्चर करेगी। यह देवनहल्ली में असेंबली यूनिट के लिए एक सप्लीमेंट्री प्लांट के रूप में काम करेगा।

इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट trickhindi.in के साथ आपका इस बारे में क्या ख्याल है हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।अगर आपको यह स्टोरी अच्छी लगी हो तो से शेयर जरूर करें|