कैसे ले एसबीआई बैंक से बिजनेस लोन? (SBI Bank Se Loan Aise Le)

sbibank
कैसे ले एसबीआई बैंक से बिजनेस लोन? (SBI Bank Se Loan Aise Le) 2

आज के इस आधुनिक दौर में सभी लोगों को पैसे कमाने की इच्छा होती है क्योंकि अच्छे जीवन यापन के लिए पैसों की जरूरत होती है या फिर कुछ लोग जो कुछ व्यापार करना चाहते हैं या अपने व्यापार को आगे बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए वह अपनी जमा पूंजी का पूरा हिस्सा उस व्यापार पर नहीं लगाना चाहते जिसकी वजह से लोगों को लोन की आवश्यकता होती है ताकि वह अपनी जमा पूंजी का कुछ भाग रख सके और कुछ भाग को इन्वेस्टमेंट करके और बाकी पैसो की जरूरत है उसे लोन लेकर पुअरा करके अपने व्यापार को बढ़ा सके या कुछ नया व्यापार की शुरुआत कर सके तो आइए हम आपको आज बताने वाले हैं कि लोन कैसे लें हम आपको बताएंगे कि एसबीआई बैंक जो कि काफी रियायती दरों पर लोन उपलब्ध कराती है तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि बिजनेस के लिए लोन कैसे लें।

भारतीय स्टेट बैंक मैन्युफैक्चरिंग, सर्विसेज और खुदरा व्यापार /थोक व्यापार में लगे छोटे व्यापारी को फिक्स्ड और मौज़ूदा एसेट खरीदने के लिए सिंपलीफाइड स्मॉल बिज़नेस लोन प्रदान करता है। इसके तहत 10 लाख रु. से 25 लाख रु. तक की लोन राशि ऑफर की जाती है जिसका भुगतान 5 साल तक की समयावधी में किया जा सकता है। यह लोन 10% की मार्जिन संबंधी ज़रूरत (स्टॉक और रिसीवेबल्स के रूप में) और 40% की न्यूनतम कोलैटरल के साथ ड्रॉपलाइन ओवरड्राफ्ट सुविधा के रूप में ऑफर किया जाता है।

भारतीय स्टेट बैंक से लोन लेने के लिए कुछ शर्तें –

व्यावसायिक अनुभव न्यूनतम 2 साल
ITRपिछले 1 वर्ष का
उम्रन्यूनतम 18 साल और अधिकतम 65 साल
व्यापार अस्तित्वन्यूनतम 2 साल
सिटिज़नशिप भारतीय नागरिक जिसका किसी भी बैंक या लोन संस्थान में कोई पिछला डिफॉल्ट नहीं है
लाभप्रदतापिछले 2 साल से लाभ में होना चाहिए

वर्ष 2022 SBI बिजनेस लोन –

प्रोसेसिंग फीस लोन राशि की 1% से 5%
ब्याज दरआवेदक की प्रोफ़ाइल और बिज़नेस संबंधी ज़रूरतों पर निर्भर करता है
लोन राशि₹10 लाख – ₹25 लाख तक
गारंटीन्यूनतम 40%
यूनिफाइड चार्ज₹7,500 (डॉक्युमेंटेशन ,प्रोसेसिंग फीस , इंस्पेक्शन, कमिटमेंट और रेमिटेंस चार्ज समेत)
भुगतान अवधि1 – 5 साल, बिज़नेस संबंधी ज़रूरतों के अनुसार समयावधी बढ़ सकती है

SME के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया बिज़नेस लोन-SME बिज़नेस लोन के तहत, SBI मिड-कॉरपोरेट ग्रुप को भी फाइनेंशियल सेवाएं प्रदान करता है। मिड-कॉरपोरेट ग्रुप वह बिज़नेस होते हैं जिनका टर्नओवर 50 करोड़ रु. से 500 करोड़ रु. तक होता है।

भारतीय स्टेट बैंक से लोन लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज- लोगों की जरूरत के हिसाब से बैंक बहुत सारे लोन उपलब्ध कराती हैं,बैंक में बहुत प्रकार के लोन दिए जाते हैं अलग-अलग लोन के लिए अलग-अलग दस्तावेज मांगे जाते हैं जिनको लोन के लिए आवेदन करते समय बैंक को देना पड़ता है इन्हीं सामान्य दस्तावेजों की जानकारी हम आपको बता रहे हैं।

  • आवेदन फॉर्म पूर्ण रूप से भरा हुआ और पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, , यूटिलिटी बिल सहित आवेदक के KYC दस्तावेज
  • पिछले 1 साल का बैंक स्टेटमेंट
  • बिज़नेस प्लान
  • संस्थान द्वारा ज़रूरी कोई अतिरिक्त दस्तावेज

1 SBI लोन,कमर्शियल रियल एस्टेट के लिए –कमर्शियल प्रॉपर्टी खरीदने के लिए बिज़नेस कंपनियां स्टेट ऑफ इंडिया से लोन ले सकती है, जैसे- , होटल, जिम या ऑफिस बिल्डिंग,गोदाम, रेस्टोरेंट आदि। यह लोन ड्रॉप-लाइन ओवरड्राफ्ट के रूप में भी दिया जाता है। एसबीआई के इस बिज़नेस लोन की प्रमुख विशेषताएं निम्न प्रकार से हैं।

न्यूनतम लोन राशि₹ 10 लाख
अधिकतम लोन राशिटियर II और टियर III शाखाओं के लिए- ₹ 20 करोड़ I शाखाओं के लिए- ₹ 50 करोड़
भुगतान अवधि6 साल तक
मार्जिन25%
प्रोसेसिंग फीस1%

2 SBI डॉक्टर प्लस योजना –यह टर्म लोन स्टेट ऑफ इंडिया द्वारा मेडिकल व्यवसायियों, विशेष रूप से एलोपैथिक डॉक्टर को दिया जाता है। एक्स-रे लैब ,, नर्सिंग होम,अस्पताल,पॉलीक्लिनिक्स और पैथोलॉजिकल क्लीनिक भी इसी योजना का हिस्सा है। इस लोन की राशि का इस्तेमाल एक नया क्लिनिक या उपकरण खरीदने, दवा की दुकान स्थापित करने या मौजूदा मेडिकल सेंटर के विस्तार के लिए किया जा सकता है एसबीआई के इस बिज़नेस लोन की कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित है।

न्यूनतम लोन राशि₹ 10 लाख
अधिकतम लोन राशि₹ 5 करोड़
पुन: भुगतान अवधिकार्ड दरों पर 50% छूट
प्रोसेसिंग फीस3-7 वर्ष
मार्जिन 15% समान रूप से

3 स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया सरल लघु बिज़नेस लोन – यह एक ड्रॉप-लाइन ओवरड्राफ्ट सुविधा है जो सर्विस सेक्टर या मैन्युफैक्चरिंग के व्यवसायों के लिए दी जाती है।

न्यूनतम लोन राशि₹ 10 लाख
अधिकतम लोन राशि₹ 25 लाख
प्रोसेसिंग फीस₹ 7,500
पुन: भुगतान अवधि5 साल तक
मार्जिन10% स्टॉक
4

4 मेडिकल इक्विपमेंट फाइनेंस – यह बिजनेस लोन डायग्नोस्टिक सेंटर,पैथलैब ,नर्सिंग होम आदि के लिए मेडिकल उपकरणों को खरीदने के लिए दिया जाता है। इस सुविधा से संबंधित कुछ जानकारी निम्नलिखित है।

न्यूनतम लोन राशि₹ 10 लाख
अधिकतम लोन राशि₹ 20 करोड़
प्रोसेसिंग फीसकार्ड दरों पर 50% छूट
पुन: भुगतान अवधि3-7 वर्ष
मार्जिन15% समान रूप से

योग्यता निम्न प्रकार से है –
डायग्नोस्टिक सेंटर या अन्य के पास 3 वर्ष का अनुभव होना चाहिए
मेडिकल केंद्र में सभी तरह की मंजूरियां होनी चाहिए
इसमें योग्य डॉक्टर होने चाहिए
व्यक्ति, कॉर्पोरेट, पार्टनरशिप, ट्रस्ट और सोसाइटी इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

5 स्टेट बैंक ऑफ इंडिया SME eBiz Loan – स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ओर से शुरू की गई कैश क्रेडिट सुविधा है जो ई-कॉमर्स पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन प्रॉडक्ट बेचने वाले लोगों की आर्थिक तौर पर मदद करती है। इस लोन की प्रमुख जानकारी निम्नलिखित है।

न्यूनतम लोन राशि₹50 लाख
अधिकतम लोन राशि₹5 करोड़
प्रोसेसिंग फीस पहले वर्ष: मंज़ूर हुई लिमिट की 1%,दूसरे वर्ष और उसके पश्चात् : मंज़ूर हुई लिमिट की 0.35%
प्रकृतिकैश क्रेडिट

योग्यता –आवेदक करने वाले को किसी भी प्रमुख ई-कॉमर्स वेबसाइट में कम से कम 6 महीने तक ऑनलाइन बिक्री का अनुभव होना चाहिए और ई-कॉमर्स पोर्टल पर एक विक्रेता के रूप में रजिस्टर्ड होना चाहिए।

6 स्टेट ऑफ इंडिया एसेट बैक्ड लोन –इस प्रकार के बिजनेस लोन को किसी व्यवसाय की मौज़ूदा और अचल संपत्तियों के निर्माण के उद्देश्य से लिया जा सकता है। इन संपत्तियों में विस्तार व्यावसायिक आधुनिकीकरण,कैपिटल ,शॉर्ट टर्म वर्किंग आदि शामिल हो सकता है। यह एक ड्रॉप-लाइन ओवरड्राफ्ट सुविधा है, इसके तहत अपने चालू खाते से एक निश्चित सीमा तक रकम की निकासी कर सकते हैं। इस लोन की कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्लिखित है।

न्यूनतम लोन राशि₹ 10 लाख
अधिकतम लोन राशि₹ 20 करोड़ रु
प्रोसेसिंग फीस1%
पुन: भुगतान अवधि15 साल तक
मार्जिनNFB सुविधा के लिए न्यूनतम 25% कैश मार्जिन

एसबीआई सप्लाई चेन फाइनेंस – सप्लाई चेन फाइनेंस को भी SBI ने अपने लोन प्रोडक्ट्स की कैटेगरी में जोड़ा है, जिससे की ग्राहकों के लिए विकल्प बढ़ सकें और वो अपनी ज़रूरत के मुताबिक चुन सकें।। स्थापित और प्रसिद्ध कॉर्पोरेट उद्यमों के सप्लाई पार्टनर्स के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफार्म शुरू किया है।SBI अपने दो उत्पादों, जैसे इलेक्ट्रॉनिक डीलर फाइनेंस योजना (e-DFS) और इलेक्ट्रॉनिक विक्रेता फाइनेंस योजना (e-VFS) के माध्यम से फाइनेंस सेवाएँ प्रदान कर रहा है।ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से इस प्लेटफॉर्म को इसके चलाया जा सकता है।

उम्मीद है की आज का यह पोस्ट आपको बेहद पसंद आया होगा और बहुत ही बेहतर जानकारी मिली होगी तो ऐसे हे बेहतर जानकरी के लिए हमारे आर्टिकल को पड़ते रहेिये।