अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं तो, आज से शुरू करें योगा

अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं तो, आज से शुरू करें योगा
अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं तो, आज से शुरू करें योगा 2

वर्तमान दौर में मोटापा एक गंभीर समस्या है यहां हर दूसरा व्यक्ति मोटापे की समस्या से पीड़ित है शरीर में मोटापा होने की वजह से और अनेक बीमारी होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं वैसे तो कई तरह की बीमारी होते हैं मगर डायबिटीज उनमें से एक प्रमुख बीमारी हैं डायबिटीज होने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन सबसे प्रमुख कारण है मोटापा जिसकी वजह से डायबिटीज होने की संभावना सबसे अधिक होती हैं मोटापा होने से जब शरीर में नुकसान होने लगता है तब मोटापे को कम करने के लिए लोग अनेक उपाय करते हैं जैसे दवाइयों का भी सेवन करते हैं मगर आपको बताना चाहेंगे योग से भी आप मधुमेह और मोटापा पर नियंत्रण पा सकते हैं।

डायबिटीज होने का प्रमुख कारण हो सकता है मोटापा

शरीर में ज्यादा चर्बी हो जाना ही मोटापा कहलाता है मोटापा से बहुत लोग परेशान हैं जैसे कि हमने पहले ही बताया है कि मोटापे से बहुत सी समस्याएं होती हैं और खास तौर पर डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है समस्याओं के होने पर लोग समस्याओं को दूर करने के लिए उपाय करते हैं कुछ लोग मोटापे को घटाने के लिए जिम जाते हैं अपने खान-पान पर नियंत्रण करते हैं और सबसे बेहतर तरीका योग करते हैं योग में कुछ आसनों का वर्णन किया जा रहा है जोकि पेट के लिए प्रमुख तौर पर उपयोगी हैं।

उन आसनों की सूची जिन्हे करके मधुमेह मोटापा पर नियंत्रण पाया जा सकता है – इन सब आसनो को करके आप अपने मोटापे पर बहुत हद तक नियंत्रण कर सकते हैं और मधुमेह जैसी बीमारी से बच सकते हैं।

मोटापा कम करने के लिए करे शशकासन –

कैसे करे शशकासन : वज्रासन में बैठकर दोनों हाथों को सांस भरते हुए ऊपर उठायें। आगे झुकते हुए सांस बाहर छोड़ते हुए, एवं हाथों को आगे फैलाएं, और हथेलियां नीचे की ओर रखते हुए कोहनियों तक हाथों को भूमि पर टिका दें। सिर भी भूमि पर टिका हुआ हो। कुछ समय इस स्थिति में रहकर पुनः वज्रासन में आ जायें। इसको ‘शशकासन’ कहते हैं।

शशकासन से होने वाला लाभ :

  • स्त्रियों के गर्भाशय को स्वस्थ बनाता है।
  • शशकासन आंत, अग्न्याशय, लिवर एवं किडनी को ऊर्जा प्रदान करता है।
  • कमर,पेट, एवं कूल्हों की चर्बी कम करता है।
  • क्रोध, चिड़चिड़ापन, गुस्सा और मानसिक तनाव आदि को दूर करके मानसिक शान्ति प्रदान करता है।
  • हृदय और दमा रोगियों के लिए विशेष लाभदायक है।

शशकासन करने के लिए विशेष निर्देश – नीचे झुकते हुए यह ध्यान देना है कि नितम्ब एड़ियों से ही लगे रहें, अर्थात् नितम्बों को उठाना नहीं है।

मोटापा कम करने के लिए करे सर्वांगासन योग : सर्वांगासन योग क्या है – इस आसन के दौरान स्पाइन से लेकर पेट तक में खिंचाव होता है इस आसन को करने से पेट पर जोर पड़ता है ये पेट की चर्बी को कम करने और मोटापा दूर करने में मदद करता है। सर्वा का मतलब होता है सभी। इसका अर्थ यह हुआ कि वैसा आसन जो शरीर के हर अंगों को प्रभावित करता हो।यह आपके स्वास्थ्य के साथ साथ शारीरिक, आध्यात्मिक और मानसिक स्तर पर बहुत आगे तक लेकर जाता है। शायद ही कोई ऐसी परेशानी या बीमारी हो जिसको यह आसन प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप में प्रभावित न करता हो।

सर्वांगासन की सावधानी

  • गर्दन में दर्द न होने पर इसे बिल्कुल नहीं करना चाहिए।
  • साइटिका से पीड़ित व्यक्तियों को यह आसन नहीं करना चाहिए।
  • मिर्गी की शिकायत है तो इस आसन को करने से बचना चाहिए।
  • अगर कमर दर्द से परेशान हैं तो इस आसन को एक दम न करें।
  • अधिक उच्च रक्तचाप में इस आसन को नही करना चाहिए।

सर्वांगासन के फायदे

  1. स्वास्थ के मामले में इस आसन की जितनी भी तारीफ की जाए उतनी कम है। इसके कुछ महत्वपूर्ण लाभ बारे में जिक्र कर रहे हैं।
  2. नियमित अभ्यास से उम्र बढ़ने प्रक्रिया धीमी जाती और आपको जवां रखने में मदद करती है।
  3. बालों से सम्बंधित परेशानी जैसे बालों का झड़ना,सफेद होना, डेंड्रफ इन सब से बचाता है।
  4. सर्वांगासन चेहरे एवं त्वचा में निखार लता है।
  5. मेटाबोलिज्म को संतुलित करते हुए आपके वजन को बढ़ने से रोकता है।इसके अभ्यास से थाइरोइड ग्रंथि स्वस्थ रहता है और
  6. यह मधुमेह के कण्ट्रोल के लिए लाभकारी आसन है।
  7. यह आपके पाचन को ठीक करते हुए अपच एवं कब्ज से आपको निजात दिलाता है।
  8. अगर आप हर्निया से परेशान हैं तो इस आसन का नियमित अभ्यास करें।
  9. बवासीर के लिए भी उपयुक्त योगाभ्यास है।
  10. यौन समस्याएं जैसे बार-बार गर्भपात, उपदंश , प्रदर,आदि के मामले में प्रभावी है।
  11. अंतःस्रावी ग्रंथियों के विकारों का उपचार करने में लाभप्रद है।

सर्वांगासन में सांस की प्रक्रिया

  • सर्वांगासन में जब अपने पैरों को ऊपर उठाते हैं तो सांस लेते हुए ऊपर जाएं।
  • योगाभ्यास को करने दौरान आप धीरे धीरे सांस लें और फिर धीरे धीरे सांस छोड़े।
  • लंबा सांस छोड़ते हुए आपको पैरों को नीचे लाते हुए आरंभिक अवस्था में आएं।

किसी भी आसन को करने से पूर्व हमें उस आसन को कैसे किया जाए यह जानना बहुत बेहद जरूरी होता है तो हम आपको बताने वाले हैं कि इस आसन को कैसे सावधानीपूर्वक किया जाए ताकि आप इस आसन का लाभ ले पाए और आपको किसी प्रकार की समस्या ना हो , आप इस आसन को आसानी से कर सकते है।

  1. पीठ के बल लेटना है।
  2. हाथों को जांघों के पास रखें।
  3. अब आप अपनें पैरों को पहले 30 डिग्री पर फिर 60 डिग्री और उसके बाद 90 डिग्री तक ले कर जाएं।
  4. हाथों को दबाकर नितंब ऊपर की ओर उठाते हुए पांवों को सिर की ओर लाएं।
  5. सहारे के लिए हथेलियां पीठ पर रखें।
  6. आप अपने शरीर को सीधा इस तरह से करते हैं कि ठोड़ी छाती पर आकर लगें।
  7. ठोड़ी छाती पर इस तरह से लगाते हैं की गर्दन के थाइरोइड वाले हिस्से में दबाब पड़े।
  8. अपने हिसाब से इस मुद्रा को धारण करें।
  9. अब पैरों को पहले 60 डिग्री पर फिर 30 डिग्री और धीरे-धीरे पूर्व मूल अवस्था में लौटें।
  10. जब आप नीचे लौटते हैं तो अपने हाथों को नितंब के नीचे लाएं ताकि आप अपने शरीर को बगैर किसी चोट के आरंभिक अवस्था में ला सके।

क्यों होता है मोटापा –अगर हम किसी समस्या का समाधान जानना चाहते हैं तो सबसे पहले हमें यह जानना जरूरी है कि वह समस्या किस कारण से हो रही है तो वैसे ही हमें शरीर से संबंधित जुड़ी समस्याओं के निराकरण के लिए शरीर में समस्या क्यों हो रही है कैसे हो रही है जानना जरूरी है तो हम आपको आज बताने वाले हैं मोटापा होने के कारण तो आइए जानते हैं मोटापा क्यों होता है।

  1. अधिक मात्रा में तेल और घी आदि चीज़ो का सेवन करना।
  2. रात में अधिक देर तक जागना जिससे नीन्द पूरी नहोती है यह भी एक प्रमुख कारण है।
  3. लम्बे समय तक एक ही जगह पर बैठे रहना।
  4. व्यायाम नहीं करना।
  5. गर्भावस्था के दौरान महिलाओ में मोटापा होना।
  6. तनाव भी प्रमुख कारणों में से एक है।
  7. शरीर में हार्मोनल असंतुलन होने के कारण मोटापा होना।
  8. आनुवंशिक विकार होने से होता है मोटापा।
  9. बहुत अधिक शराब के सेवन करने से।

आइये जानते है मोटापा कम करने के लिए कुछ घरेलू उपाय : वजन को नियंत्रित करना चाहते हैं तो उसके अनेक घरेलू नुस्खे हैं इनमें से कुछ घरेलू नुस्खे या उपचार हम आपको बता रहे हैं जो कि निम्न प्रकार से हैं।

शहद और नींबू का करे सेवन : एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद और 3 बड़े चम्मच नींबू का रस मिला लें और उसमें एक चुटकी पिसी हुई काली मिर्च डालकर अच्छे हिला लें इस मिश्रण को हर रोज खाली पेट पिए इससे मोटापा कुछ ही दिनों में कम होने लगेगा क्योंकि शहद और नींबू शरीर के वजन को नियंत्रित करने के लिए बेहतरीन काम करते हैं।

करे ग्रीन टी का उपयोग : अगर आप भी अपना मोटापा कम करना चाहते हैं और चाय पीने के शौकीन हैं तो एक तरीका है जो आपके लिए मजेदार है और आपका मोटापा कम हो सकता है इसके लिए आपको ग्रीन टी का उपयोग करना पड़ेगा क्योंकि ग्रीन टी मोटापा कम करने में बहुत ही फायदेमंद कारगर होती है यह एक तरीके से प्राकृतिक उपचार भी है ग्रीन टी को बिना चीनी के उपयोग करना ज्यादा फायदेमंद है ग्रीन टी शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो कि कठोर वसा को समाप्त कर दी है। ग्रीन टी में सेलेनियम, क्रोमियम,कैरोटीन, जस्ता, और खनिजों के रूप में पोषक तत्वों से भरपूर होती है इसमें पॉलिफिनॉल्स पाए जाते हैं जो कि शरीर में फैट को समाप्त करने में मदद करती है इससे आप भी मोटा होने से बच सकते है।


मोटापा  कम करने का उपाय है लौकी : लौकी में वसा की मात्रा बिल्कुल नहीं होती लौकी फाइबर से परिपूर्ण होती है आप लौकी का सेवन सब्जी के रूप में भी कर सकते हैं और इसका बेहतर तरीके से उपयोग आप जूस के रूप में कर सकते हैं आप लौकी को मिक्सर ग्राइंडर में पीसकर इसका रस निकालकर रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करें इससे मोटापे में कमी होने में काफी मात्रा में सहायक होगा।

मोटापा कम करने के लिए करे गाजर का उपयोग : सलाद के रूप में गाजर का बहुत उपयोग किया जाता है अगर आप मोटापा कम करना चाहते हैं तो आपको गाजर का सेवन करना चाहिए इससे मोटापा काफी मात्रा में कम होता है इसे खाने के साथ-साथ इसका बेहतर उपयोग जूस के रूप में कर सकते हैं गाजर को पीसकर इसका रस निकालकर रोजाना सुबह खाली पेट एक गिलास इसका सेवन करें इससे आपके पेट की चर्बी कम होने लगेगी।

इन सभी उपायों के अलावा आप और भी कई घरेलू नुस्खे अपना सकते हैं ऊपर जो घरेलू नुस्खे और कुछ आसन हमने जो बताए हैं उम्मीद करते हैं आपको पसंद आया होगा अगर आप और भी बेहतर जानकारी चाहते हैं हमारे आर्टिकल को पड़ते रहे।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।