जानिए आखिर क्यों इतना ज्यादा फायदेमंद होता है, महिलाओं के लिए पद्मानसन योग

जानिए आखिर क्यों इतना ज्यादा फायदेमंद होता है, महिलाओं के लिए पद्मानसन योग
जानिए आखिर क्यों इतना ज्यादा फायदेमंद होता है, महिलाओं के लिए पद्मानसन योग 2

प्राचीन काल से ही भारत देश के लोग योग और आयुर्वेद को काफी ज्यादा महत्व दे आ रहे है आज भारतीय योग का पूरी दुनिया के लोग लोहा मानते है अभी कुछ साल में योग के तरफ लोगो का लगाव काफी ज्यादा बढ़ गया है दरअसल, योग एक ऐसा माध्यम है, जो व्यक्ति को सिर्फ शारीरिक ही नहीं, बल्कि मानसिक रूप से भी स्वस्थ बनाता है। योग करने से कई तरह के शारीरिक समस्याओं के साथ – साथ मानसिक बिमारियों के लिए योग करना काफी ज्यादा लाभदायक है कई तरह की समस्याओं का हल योग के जरिए संभव है।

आज हम महिलाओं के लिए एक ऐसा योग के बारे में जानकारी देने वाले है जिसको अगर सही तरह से क्या जाये तो पद्मासन के कई लाभ है ये खासकर महिलाओं के लिए योग है हालांकि, शुरुआत कुछ आसान तरीकों से आप स्टार्ट कर सकते है क्योंकि बॉडी को उस लेवल में ले जाने के लिए शरीर को भी तैयार रहना जरुरी है ताकि आप सही तरह से योगा कर सके अमूमन लोग अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए तरह-तरह के योगासनों का अभ्यास करते हैं।

पद्मासन योग की सावधानियाँ : हर योगा को करने से पहले योगा से जुड़ी कुछ सावधानियां के बारे में आपको जानना बेहद जरूरी है ताकि शरीर को किसी भी तरह से कोई नुकसान ना हो पद्मासन योग से जुड़ी कुछ सावधानियां निम्न प्रकार से हैं :-

  • पद्मासन योग करने से पहले 10 मिनट्स वार्म-अप करें फिर पद्मासन करें।
  • आपके पैर में किसी भी तरह से कोई सर्जरी हुई है तो पद्मासन योग ना करें।
  • प्री-मेडिटेटिव आसन करना चाहिए खासकर घुटने के दर्द के रोगियों को तभी उनका पैर साथ देगा।

पद्मासन योग के लाभ : –

पद्मासन योग करने के कई तरह के लाभ हैं लेकिन खासतौर पर पद्मासन योगा का लाभ महिलाओं के लिए होता है यदि आप गृहणी हैं और किसी भी तरह से कोई शारीरिक कष्ट से पीड़ित है तो आपको पद्मासन योगा करने की हम सलाह देते है पद्मासन योग के फायदे निम्नलिखित प्रकार से है :-

1. पद्मासन का अभ्यास करने का सबसे बड़ा एक लाभ यह भी देखा गया है की यह पीरियड्स में होने वाली दर्द को कम करने में सहायक है। इसलिए यह मसल्स क्रैम्प को भी कम करता है चूंकि पद्मासन मसल्स को स्ट्रेच करके पेल्विक एरिया को मजबूत बनाता है।

2. महिलाओं को दिनभर में बहुत सारे कार्य करना पड़ता है, जिसके कारण वह अक्सर थकावट महसूस करती है लेकिन अगर महिला नियमित रूप से पद्मासन का अभ्यास करती हैं तो इससे उनकी बॉडी का एनर्जी लेवल बढ़ जाता है। जिससे महिलाएं पूरा दिन अधिक एक्टिव फील करती हैं।

3. पद्मासन योग करने वाली महिलाओं में देखा गया है कि जब वो प्रेग्नेंट रहती है और पद्मासन करती है उन महिलाओं को प्रसव के दौरान राहत मिलता है और प्रसव पीड़ा कम होता है। क्योंकि जब, महिला पद्मासन का अभ्यास करती है तो यह उनके पेल्विक मसल्स को मजबूती प्रदान करता है।

4. पद्मासन योग करने वाले में एकाग्रता बढ़ती है क्योंकि अभ्यास करते समय हम अपनी आंखें बंद कर लेते हैं और अपनी श्वास पर ध्यान केंद्रित करते हैं।

5. खासतौर से, महिलाओं को गठिया की समस्या होती है लेकिन जब आप पद्मासन का अभ्यास करते हैं तो यह घुटने के जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद करता है 30 की उम्र के बाद महिलाओं के शरीर से कैल्शियम कम होने लगता है, जिसके कारण महिलाओं को घुटनों या जोड़ों में दर्द की शिकायत होती है।

पद्मासन योग करने की विधि

  1. सबसे पहले योगा मैट बिछाकर उस पर बैठ जाएं।
  2. अपने दाएं पैर को मोड़ें और अपनी एड़ी को बाईं जांघ पर रखें।
  3. इसी तरह अपने बाएं पैर को इस तरह मोड़ें कि एड़ी दाईं जांघ पर हो।
  4. इस दौरान अपनी कमर और गर्दन को सीधा रखें।
  5. अब आप अपने हाथों की उंगलियों से ज्ञानमुद्रा बनाएं और उसे अपने घुटने पर रखें।
  6. ध्यान रहें कि इस दौरान आपकी कोहनियां मुड़े नहीं।
  7. अब आप गहरी सांस लें और छोड़ें।
  8. कोशिश करें कि आपका पूरा ध्यान आपकी सांसों के आवागमन पर ही हो।
  9. यथासंभव इस मुद्रा में कुछ समय बैठे रहें।
  10. अब अपने शरीर को रिलैक्स करें।
  11. अब इसे फिर से दोहराएं।

पद्मासन योग से जुड़ी संपूर्ण जानकारी हमने इस आर्टिकल में ऊपर विस्तार से बता दी हैं फिर भी अगर आपके मन में किसी भी तरह से कोई सवाल आ रहा है योगा से जुड़े तो आप कमेंट करके भी हमसे पूछ सकते हैं।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।