ये है लड़का पैदा करने के घरेलु उपाय, क्या आपको पता था

आज का विषय है लड़का कैसे पैदा कर्रे शादी के बाद एक माता -पिता यही चाहते हैं कि उनका एक लड़का पैदा हो जो उसके बुढ़ापे का सहारा बन सके, उनके आंगन में लड़के की किलकारियां अवश्‍य गूंजे लड़का पैदा करने के लिए वह कई तरह की अनुष्का अपनाती हैं भारत ही नहीं विश्व के लगभग हर समाज को पुरुष प्रधान कह सकते हैं इसलिए कहीं ना कहीं सभी माता-पिता को एक पुत्र प्राप्ति की चाह जरूर होती है।

अधिकतर लोग यही मानते हैं की लड़कियां शादी करने के बाद अपनी ससुराल चली जाती है जबकि उसका एक लड़का उनके बुढ़ापे का सहारा बना होता है ताकि वह अपने बुढ़ापे में अपने माता-पिता की सेवा कर पाए एवं आगे की पीढ़ी को आगे बढ़ा पाए हालांकि बदलते समय के साथ लड़कियों ने अपनी योग्‍यता के द्वारा यह सिद्ध कर दिया है कि वे लड़कों से किसी मामले में कम नहीं होतीं, बावजूद इसके यह कुचक्र जारी है। लड़का पैदा करने के लिए विभिन्न प्रकार के घरेलू उपाय के बारे में जानना चाहती हैं इस लेख में आपको लड़का पैदा करने के लिए वह कौन कौन से घरेलू उपाय हैं उसकी जानकारी दी गई है।

ये है लड़का पैदा करने के घरेलु उपाय, क्या आपको पता था
ये है लड़का पैदा करने के घरेलु उपाय, क्या आपको पता था 2

लड़का या लड़की कैसे पैदा होती है –

महिलाओं और पुरुषों में दो तरह के यौन गुणसूत्र (सेक्स क्रोमोसोम) पाए जाते है। ये दोनों यौन गुणसूत्र ही निर्धारित करते है की गर्भ में लड़का है या लड़की और ये कैसे बनता है इसकी जानकारी निचे दी गयी है।

जीव विज्ञान के मुताबिक, महिलाओं और पुरुषों में दो तरह के यौन गुणसूत्र (सेक्स क्रोमोसोम) पाए जाते हैं।

1. महिला के अंडाशय में XX क्रोमोसोम
2. पुरुष के शुक्राणु में XY क्रोमोसोम

XX क्रोमोसोम लड़की और XY क्रोमोसोम लड़के का लिंग निर्धारित करते हैं। जब पुरुष के शुक्राणु का Y क्रोमोसोम महिला के अंडाशय के X क्रोमोसोम से निषेचित होता है, तो लड़का पैदा होता है। इसी तरह, अगर पुरुष के शुक्राणु का X क्रमोसोम महिला के अंडाशय के X क्रोमोसोम से निषेचित होता है, तो लड़की पैदा होती है।

लड़की और लड़का पैदा करने के लिए महिलाओं और पुरुषों में पुरुष के योन गुणसूत्र वह जिम्मेदार होते हैं किसी स्त्री को लड़के को जन्म ना देने के लिए दोषी ठहराना सर्वथा अनुचित है।

गर्भ में लड़का प्राप्ति के लिए तरीका –

गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है या लड़की, इसका 100% सही अनुमान नहीं लगाया जा सकता है। मासिक धर्म शुरू होने का सही गिनती करने के लिए मासिक धर्म के शुरू होने वाले दिन को पहला दिन गिनना चाहिए, लड़के के चाह रखने वाली महिलाओं को मासिक धर्म शुरू होने वाले दिन से गिन कर चौथा दिन ,छटवा दिन ,नउवा दिन ,बरवा दिन ,चौदवा दिन और सोलवा दिन ,रात को सम्भोग करना चाहिए।

लड़की की चाह रखने वाली महिलाओं को मासिक धर्म शुरू होने वाले दिन से गिन कर,पांचवा दिन ,सातवा दिन ,नौवा दिन ,ग्यारवा दिन ,तेरवा दिन ,और पन्द्रवा दिन रात को सम्भोग करना चाहिए।

1. अगर आप का मासिक धर्म 10 जनवरी को रात में 8:00 बजे शुरू होता है ,तो 11 जनवरी को रात 8:00 बजे आपका मासिक धर्म का एक दिन पूरा हो जाता हैं इसमें ध्यान रखने वाली बात यह है,की ११ जनवरी को दूसरा दिन न गिनें पीरियड शुरू होने के 24 घंटे के बाद दूसरा दिन गिने।

2. लड़का की चाह रखने वाली महिलाएं जब तक गर्भ नहीं ठहर जाता तब तक रात को पांचवा दिन ,सातवा दिन ,नौवा दिन ,ग्यारवा दिन ,तेरवा दिन ,और पन्द्रवा सेक्स नहीं करनी चाहिए।

3. उसी तरह लड़की की चाह रखने वाली महिलाएं जब तक गर्भ नहीं ठहर जाता तब तक रात को चौथा दिन ,छटवा दिन ,नउवा दिन ,बरवा दिन ,चौदवा दिन और सोलवा दिन सेक्स नहीं करनी चाहिए।

इसमें ध्यान रखने वाली बात यह है कि आपको गिनती में 1 घंटे की भी गलती नहीं करनी चाहिए यदि यह 1 घंटे की भी गलती होती है तो आपको जिस प्रकार से परिणाम चाहिए इस प्रकार से परिणाम प्राप्त नहीं होगा।

चलिए आगे जानते हैं लड़का पैदा करने के लिए वह कौन कौन से घरेलू उपाय हैं जिसे अपना कर आप लड़का पैदा कर सकते हैं।

पुत्र प्राप्ति की इच्छा रखने वाली महिलाओं को संभोग करने से 15 से 30 मिनट पहले पेय पदार्थ का अधिक मात्रा में सेवन करना जरूरी होता है पेय पदार्थों में आप चाय या कॉफी दोनों ले सकते हैं जिसमें पुरुषों को 15 से 30 मिनट पहले चाय या कॉफी का सेवन करना चाहिए ताकि पुरुषों में जो लड़का पैदा करने वाले Y शुक्राणुओं की गतिशीलता है वह तेज हो जाती है। और उनके जिंदा रहने की शक्ति भी बनी रहती है इसी तरह लड़का पैदा करने के लिए स्त्रियों को भी 15 से 30 मिनट पहले चाय या कॉफी का सेवन जरूर करना चाहिए यदि महिलाएं चाय कॉफी का सेवन नहीं कर पाती है तो पुरुषों को चाय या कॉफी का सेवन जरूर करना चाहिए संभोग करने के बाद स्त्री को ठंडा पानी जरूर पीना चाहिए।

लड़का पैदा करने के लिए क्या करें?

जैसा कि हम आपको बता चुके हैं, बच्चे का लिंग Y क्रोमोसोम के व्यवहार पर निर्भर करता है। Y क्रोमोसोम वाले शुक्राणु छोटे होते हैं और ज़्यादा तेज़ होते हैं। अगर ओव्यूलेशन के आखिरी दिन या उसके अगले दिन संभोग किया जाए तो लड़का पैदा होने की संभावना अधिक होती है। ओव्यूलेशन के दिन योनी से होने वाला रिसाव चिकना और गाढ़ा होता है। रिसाव के इस लक्षण के आधार पर ओव्यूलेशन के दिन की पहचान की जा सकती है।

1. पुत्र प्राप्ति के लिए पुरुषों को अपने लिंग को पत्नी के पीछे से योनि की तरफ सीधे प्रवेश कराना चाहिए इससे शुक्राणुओं की संख्या है वह सीधे गर्भाशय के द्वार पर पहुंच जाते हैं महिला के गर्भाशय का मार्ग योनि की अपेक्षा अधिक क्षारीय होती है जिसमें योनि में मौजूद शुक्राणु अम्लीय वातावरण के कारण नष्ट हो जाते हैं।

2. लड़का पैदा करने के लिए, संभोग से समय स्त्री और पुरुष के शरीर की स्थिति ऐसी होनी चाहिए जिससे कि पुरुष के शुक्राणु महिला के अंडे में गहराई तक निषेचित हो सकें। जैसे कि महिला का पुरुष के ऊपर बैठकर संभोग करने से लड़का पैदा होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके अलावा, शटल विधि के तहत भी लड़का पैदा करने के लिए ओव्यूलेशन के आसपास के दिनों में संभोग करने की सलाह दी जाती हैं।

लड़का पैदा करने के लिए करे बार-बार संभोग –

पुत्र प्राप्ति की चाह रखने वाले महिला एवं पुरुषों को संभोग करते समय ऊपर जो बताए गए दिनों के हिसाब से संभोग करना चाहिए यानी कि एक रात में आप कम से कम दो से तीन बार इस प्रक्रिया को कर सकते है ऐसा करने से पुरुषों में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ जाती है और पुरुषों के शुक्राणु को लाभ मिलता है जिससे पुरुष का Y क्रोमोसोम और महिला का X क्रमोसोम मिलकर पुत्र का निर्माण प्रारंभ करते हैं।

पुरुषों को ध्यान देने वाली बात यह है यदि वह अपनी शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाना चाहते हैं तो ऐसे में उनको ढीला कपड़ा पहनना चाहिए जिसमें नर शुक्राणु को बढ़ाने के लिए एक अच्छा माना जाता है ढीला बॉक्सर पहनने से अंडकोष का तापमान नियंत्रित रहता है इसे अंडकोष में पर्याप्त मात्रा में शुक्राणुओं का उत्पादन होते रहते हैं ज्यादा तंग अंडरवियर पहने से अंडकोष का तापमान बढ़ जाते हैं जिसमें शुक्राणुओं की संख्या में कमी आ सकती है।

तनाव मुक्त रहे –

आज के आधुनिक दौर में कामकाज के कारण महिला और पुरुषों को एक साथ समय व्यतीत करने का टाइम नहीं मिल पाता है कुछ कुछ चीजों के लिए महिला पुरुषों में तनाव रहता है किसी प्रकार के परिवारिक झगड़े या ऑफिस में किसी प्रकार का काम ना हो पाना या फिर घरेलू झगड़ों के कारण आप ज्यादा तनाव में रहते हैं जिन महिला पुरुषों को लड़के की चह हैं वह तनाव में ना रहे संभोग करते समय दोनों को तनाव मुक्त रहना आवश्यक होता है आपका सारा ध्यान संभोग क्रिया पर ही लगना चाहिए ना कि बच्चे के बारे में सोचना चाहिए क्योंकि यह पल आपके लिए बहुत ही खास होता है जिसको आपको पूरा आनंद आपको लेना चाहिए।

लड़का प्राप्ति के लिए अपनाये काम-उत्तेजना –

पति और पत्नी दोनों संतान प्राप्ति के लिए संभोग करते समय पुरुष को संतुष्ट होने से पहले पत्नी को उत्तेजना की चरम सीमा तक पहुंचाना चाहिए अगर ऐसा संभोग करते समय बार-बार हो रहा है तो यह लड़का पैदा होने की संभावना को और ज्यादा बढ़ा देता है।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।