Bhoot kaha rahte hai,इन 9 जगहों पर मत जाना भूत-प्रेत और आत्माओ का साया रहती है यहाँ

प्रेत कहा रहते है
Bhoot kaha rahte hai,इन 9 जगहों पर मत जाना भूत-प्रेत और आत्माओ का साया रहती है यहाँ 2

Bhoot kaha rahte hai भूत कहां रहते है,इन 9 जगहों पर मत जाना भूत-प्रेत और आत्माओ का साया रहती है यहाँ भूत प्रेत एक अदृश्य सूक्ष्म आत्मा होती है जो हमें अक्सर रात्रि के अंधेरों में किसी इंसानी साए के रूप में दिखाई देती है, यदि आप यह जानना चाहते हैं कि भूत कहां रहते हैं तो बता दे कि भूत-प्रेतों का कोई अपना घर नहीं होता है जैसा कि हम लोग घर बनाकर रहते हैं. क्योंकि भूत इंसानों का सूक्ष्म शरीर होता है. जब अकाल मृत्यु होती है, तो ऐसा माना जाता है कि व्यक्ति भूत प्रेत योनि में जन्म लेता है, जब हमारे माता-पिता, दादा-दादी, नाना-नानी से भूत प्रेतों के विषय में सुना होगा बहू से किस्सा कहानियों में भूत प्रेतों के बारे में जाना होगा, तो निश्चित है कि आप भूतों के विषय में जानने के लिए किसी ना किसी से पूछते जरूर है।

ऐसे में देखा जाए, तो भूत प्रेत इंसानों की तरह ना रहकर उनके प्रारूप में होते हैं और दुनिया में हर जगह होते हैं. भूत प्रेत झुंड के रूप में रह सकते हैं या फिर अकेले में भी रह सकते हैं।

  • भूत कहां रहते हैं | Bhoot kaha rahte hai

भूतों का कोई घर नहीं होता है फिर भी ऐसा सुनने में आता रहता है कि भूत कुछ महत्वपूर्ण जगहों पर रहते हैं माना जाता है कि जहां सुनसान होता है वहां पर इनका निवास हो सकता है आइए हम जानते हैं कि भूत कहां रहते हैं।

  • सुनसान जगहों पर भूत रहते हैं

अक्सर रात के अंधेरे में जब आप किसी ऐसी सुनसान जगह से गुजरते होंगे तो आपको भय लगता होगा क्योंकि धार्मिक मान्यताओं के आधार पर कहा जाता है कि भूत सुनसान जगहों पर ही रहते हैं जहां पर बहुत कम लोग आते जाते रहते हैं वहां पर अपना निवास बना लेते हैं, परंतु यह भी जरूरी नहीं कि हर सुनसान जगह पर भूतों का निवास हो लेकिन ज्यादातर सुनसान जगहों पर बुरी आत्माओं का प्रभाव रहता है इसीलिए जब हम किसी सुनसान रास्ते से गुजरते हैं तो हमें एक अजीब सा डर लगता रहता है।

इन्हे भी पढ़े

  • पेड़ों पर भूत रहते हैं

सुनसान राहों के पेड़ों पर यह अपना निवास बना लेते हैं क्योंकि इनका कोई निश्चित घर नहीं होता है इसलिए यह पेड़ों पर भी रह सकते हैं और जब अर्धरात्रि के बाद कोई इन रास्तों से गुजरता है तो पेड़ों पर उनको दिखाई भी पड़ सकते सकते हैं। इसलिए रात देर रात चलना काफी खतरनाक होता है, रात्रि के अंधेरे में सुनसान होने की वजह से आपको भयावह आवाजें आ सकती हैं अर्थात जब आप किसी ऐसे रास्ते से गुजरते हैं जो सुनसान हो और पेड़ लगे हो तो आपको कभी-कभी महसूस होता है कि पेड़ों पर कोई निवास कर रहा है।

इसीलिए जब हम देर रात किसी सुनसान सा से गुजरते हैं तो सतर्क रहने की आवश्यकता है क्योंकि यदि आपके दिल में अगर डर उत्पन्न हो गया तो निश्चित है कि आप डर जाएंगे इसलिए ऐसी रास्तों पर गुजरने से पहले आपके अंदर डर का भाव नहीं होना चाहिए.

  • तांत्रिकों के पास भूत रहते हैं

तंत्र मंत्र की विद्या जाने वाले तांत्रिक साधना के द्वारा किसी भी अच्छी और बुरी आत्मा को अपने वश में कर सकते हैं. इसलिए कहा जाता है कि तांत्रिक लोग भूत जैसी बुरी आत्माओं को अपने वश में कर लेते हैं,तांत्रिक सिद्धियों को सिद्ध करने वाले लोग भूत प्रेतों से नहीं डरते हैं और वे तंत्र मंत्र के द्वारा उनको अपने बस में कर लेते हैं तांत्रिक किसी भी प्रकार की बुरी आत्मा को अपने बस में करने की ताकत रखते हैं इसलिए कहा जाता है कि तांत्रिकों के पास रहते हैं और भूत तांत्रिक लोगों के आसपास घूमते रहते है।

  • पुराने खंडहरों में भूत रहते हैं

यह भी सच है कि जो हमारे बहुत पुराने घर होते हैं जिनको लोग छोड़कर कहीं चले गए हो और कई वर्षों से घर सुनसान पड़ा हो तो ऐसे घरों में बुरी आत्माओं का निवास हो जाता है. यदि कोई घर सैकड़ों हजारों वर्षों से खाली पड़ा है और कोई निवास नहीं करता है, तो इन घरों को ही अपना निवास बना लेते हैं. जिससे ऐसे घरों में रात को निवास करना खतरनाक हो जाता है।

  • जंगलों में भूत रहते हैं

कई बार आप लोगों ने सुना होगा कि कोई घना जंगल यदि होता है तो उसमें रात या फिर गर्मी की दोपहर में कोई नहीं जाता है ऐसा माना जाता है कि पुराने जंगलों के अंदर भूत रहते हैं कई प्रकार की घटनाओं में सुना होगा कि व्यक्ति जंगल से या जंगल के आसपास से गुजर रहा था और उसको कोई ऐसा साया दिखाई देता है, जिससे वह डर गया और घर आने पर बीमार हो जाता है या फिर कभी कभी अधिक डर जाने के कारण मर जाता है इस तरह की घटना यह बताती है कि पुराने जंगलों में भूत प्रेत निवास करते हैं इसके अलावा वहां पर अन्य बुरी शक्तियां भूतनी चुड़ैल जैसी आत्मा रहने लगती है और यह स्थान काफी डरावने हो जाते हैं।

इसीलिए जब हम देर रात किसी ऐसी राह से गुजर ना चाहते हो जहां पर घना जंगल पड़ता है तो हमारे घर वाले पास पड़ोस के लोग वहां जाने से मना कर देते हैं क्योंकि रात में वहां जाने से कोई सी भी प्रकार का खतरा हो सकता है।

  • दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्र के आसपास

यह भी आपने कई बार सुना होगा कि कोई अपना वाहन लेकर सड़क पर जा रहा हो और सुनसान रास्ता हो, तो उसके सामने कोई जानवर जैसे रूप में दिखाई देता है और वाहन पलट जाता है या किसी चीज से टकरा जाता है जिसकी वजह से गाड़ी ड्राइवर की मौत तक हो जाती है
कहा जाता है कि जब कोई व्यक्ति दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्र के आसपास मृत्यु को प्राप्त होता है तो यह आवश्यक नहीं है कि उसकी मृत्यु स्वाभाविक रूप से हुई हो अर्थात अकाल मृत्यु हो इतने पर भी लोग भूत-प्रेत योनि में जाते हैं, जो अपनी दुर्घटना स्थल पर निवास करते रहते हैं और इस दुर्घटना क्षेत्र से जब कोई व्यक्ति कोई वाहन लेकर निकलता है।

उसको कई रूपों में दिखाई देता है कभी जानवर के रूप में कभी मनुष्य के रूप में भटकती हुई आत्मा दूसरे लोगों को डरा देती है और दिल से दुर्घटना हो जाती है।

  • पीपल के पेड़ पर भूत रहते हैं

हिंदू धर्म के अनुसार पीपल एक पूजनीय पेड़ है जिस पर माना जाता है कि ब्रह्म देवता का निवास होता है और रात में सुनसान होने की स्थिति में यहां पर कोई बुरी आत्मा निवास कर लेती है जो भटकती रहती हैं, हिंदू धर्म में अक्सर पीपल के पेड़ के नीचे ऐसे कर्मकांड होते हैं जो मृत्यु के बाद संपादित किए जाते हैं।

इसीलिए कहा जाता है कि इन कर्मकांड की वजह से यहां पर भूत निवास करने लगते हैं अक्सर आपने देखा भी होगा कि कई प्रकार के कर्मकांड की कुछ प्रतीक वहां पर पड़े हुए दिखाई देते हैं. इसीलिए पीपल के पेड़ के नीचे रात को जाना खतरनाक हो सकता है।

  • किसी चौराहे पर भूत रहते हैं

‌‌‌प्रमुख रूप से गांव के बाहर खेतों से होकर जाने वाले कई रास्तों के चौराहों पर इस प्रकार की घटनाओं को देखा गया है क्योंकि इन चौराहों पर कई लोग टोने टोटके करते रहते हैं जिसकी वजह से बुरी आत्मा का निवास हो जाता है, ‌‌‌जब आप किसी से पूछते हैं कि भूत कहां रहते हैं तो आपको यह भी बताना जरूरी है कि कोई ऐसा चौराहा जहां पर रात में सुनसान की स्थित होती है तो ऐसे चौराहों पर भूत प्रेत के साया दिखाई देते हैं।

‌‌‌अगर किसी व्यक्ति के ऊपर भूत प्रेत का साया हो जाता है तो लेकिन परेशान रहता है ऐसे में वह किसी झाड़-फूंक करने वाले तांत्रिक या बाबा को बुलाकर कर्मकांड करते हैं जो चौराहे पर ही किया जाता है इसीलिए ऐसे चौराहे भूत प्रेत के निवास से संबंधित हो जाते हैं

  • श्मशान या कब्रिस्तान में भूत रहते हैं

यह सच है कि शमशान वह जगह है जहां पर मृत्यु के बाद एक किस का अंतिम संस्कार किया जाता है और जहां पर हर तरह से मृत्यु को प्राप्त लोगों का अंतिम क्रिया कर्म किया जाता है. आपको पता होना चाहिए कि अकाल मृत्यु को प्राप्त लोग भूत प्रेत योनि में जन्म लेते हैं।

इसलिए यही श्मशान घाट या कब्रिस्तान में दिखाई देते हैं. अतः यह कहा जाता है कि किसी भी शमशान घाट या कब्रिस्तान रात को नहीं जाना चाहिए।

इस आर्टिकल के माध्यम से इतना ही कहना चाहते हैं कि यदि आप ईश्वर में विश्वास करते हैं, तो Bhoot kaha rahte है,भूत-प्रेतों में भी विश्वास करना पड़ता है और जब किसी की मृत्यु होजाती तो कहीं ना कहीं हमारा शरीर सूक्ष्म अवस्था में जाता है,वह भूत प्रेत के रूप में दिखाई देता है यदि यह कहा जाए कि भूत कहां रहते हैं तो यह निश्चित है कि इन का कोई स्थान निश्चित नहीं है केवल सामान्य रूप से कुछ जगहों को प्रमुखता दी जाती है इसलिए भूत प्रेत जैसी बुरी आत्मा से आपको किसी प्रकार का भय नहीं होना चाहिए, बल्कि अपने अंदर साहस होना चाहिए और मजबूती के साथ खड़े रहना जरूरी है सही मायने में देखा जाए तो हमारा डर ही भूत प्रेत है।

आशा करता हूँ दोस्तों की आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा ,अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो प्लीज आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।