तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने के फायदे

तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने के फायदे
तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने के फायदे 2

आज के इस आर्टिकल में तांबे के बर्तन के पानी पीने के फायदे के बारे में बताने वाले हैं प्राचीन काल से ही भारत वर्ष में तांबे के बर्तन से पानी पीने की प्रथा चली आ रही है लेकिन वर्तमान समय में लोग अब प्लास्टिक के बटलो में पानी पी रहे हैं प्लास्टिक के बटलो में पानी पिने के वजह से हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियां होती है और इसके कई तरह के नुकसान भी हैं अगर हो सके तो आज ही प्लास्टिक के बटलो का पानी पीना बंद करें और तांबे के बर्तन का पानी पीना स्टार्ट करें।

तांबे के बर्तन से पानी पीने की अनगिनत फायदे हैं आज तांबे के गिलास, मग, लोटा, थर्मस आदि का आप इस्तेमाल कर सकते हैं और तांबे के बर्तन में पानी पी सकते हैं। तांबे के बर्तन से पानी पीने से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और हम कई तरह की बीमारियों से बच सकते हैं यदि आप किसी भी तरह से कोई पेट से जुडी समस्या से पीड़ित है तो आपके लिए ताम्बे के बर्तन का पानी पीना सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है यह हमारे पेट के लिए भी कई तरह से लाभदायक होता है।

तांबे के बर्तन से पानी पिने के बेनिफिट्स व गुण

  • खून की कमी पूरा करता है जिससे शरीर की रोधप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और एनीमिया जैसी घातक बीमारी से बचाता है।
  • यदि आप थायराइड ग्लैंड जैसे गंभीर बीमारी से पीड़ित है तो ताम्बे के पानी का इस्तेमाल कर सकते है क्योंकि ये थायराइड ग्लैन्ड को कंट्रोल में रखता है।
  • लम्बे समय तक शरीर को जवान बनाये रखता है।
  • यदि आप अपने शरीर को संतुलित रखना चाहते है तो यह लीवर, स्प्लीन और लिंफ सिस्टम के निक का काम करता है लिए टॉनिक का काम करता है
  • जो लगातार ताम्बे के बर्तन से पानी पीते हैं उनका दिमाग भी तेज होता है और साथ ही दिमाग को तेज करता है।
  • ताम्बे के बर्तन के पानी पिने से शरीर में किडनियों को साफ करता है।

तांबे के बर्तन के बैनिफिट

भारत देश में आदि काल से ही बर्तनों को उनके कार्य और उपयोग के हिसाब से अलग अलग धातुओं से बनाया जाता था क्योकि कुछ धातुओं के बर्तन उनमे रखे जाने वाले भोजन सब्जियां,आचार आदि से रासायनिक प्रतिक्रिया करने लगते थे। इसलिए इस बातों का ख्याल रखा जाता था कि बर्तनों को धातु के गुण के हिसाब से सही उपयोग में ही लाया जाये।

1. अगर बर्तन में रखा पानी कुछ अशुद्ध है तो ताम्बे के बर्तन में रखने से कुछ ही घंटो में पानी शुद्ध हो जाता है। तांबा के बर्तन में रखा पानी रासायनिक प्रतिक्रिया करके जीवाणुनाशक बन जाता है जो शरीर के स्वास्थ्य में अत्यंत लाभकारी होता है यह पानी रक्त को शुद्ध करता है, पाचन तंत्र मजबूत बनाये रखता है।

2. अभी हाल ही में वैज्ञानिकों द्वारा किए गए रिसर्च हमें इस बात का पता चला है कि अस्पतालों में इस्तेमाल किए जाने वाले तांबे के एक्पट्मेंट जो अस्पताल में इश्तेमाल से आईसीयू में पाए जाने वाले 90% बैक्टीरिया खत्म हो रहे हैं जिनसे होने वाले इन्फेक्शंस में लगभग 40 प्रतिशत से ज्यादा की कमी आई है।

3. साल 2012 में भारतीय वैज्ञानिकों के द्वारा एक स्टडी में इस बात का खुलासा किया गया है कि सामान्य तापमान पर तांबे के बर्तन में 16 घंटे तक रखने पर पानी में मौजूद हानिकारक जीवाणुओं की संख्या कम हो जाती है या तो नष्ट हो जाती है।

4. सामान्य बर्तन के मुकाबले में अगर हम तांबे के बर्तन की बात करें तो इसमें कई सारे फायदे हैं तांबे के बर्तन में रखे पानी से एंटीइन्फ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेट, कैंसररोधी और जीवाणुरोधी गुण आ जाते हैं।

5. तांबे के बर्तन में रखे पानी को 4 घंटे के बाद यदि आप सेवन करते हैं तो यह शरीर को स्वस्थ और ऊर्जावान बनाता है इस बात की पुष्टि भारतीय योगी सद्गुरु श्री जग्गी वासुदेव जी ने भी बताए हैं साथ – साथ ताम्बे की धातु की वे सभी गुण पानी में आज जाते हैं जो विशेषकर हमारे लीवर को लाभ पहुंचाता है।

तांबे के बर्तन में पानी पीने के कई अनगिनत फायदे हैं यदि आप आधुनिक दिनचर्या में पानी तांबे के बर्तन में नहीं पीते हैं तो पीना शुरू कर दें यह आपके पेट से संबंधित विभिन्न बीमारियों को दूर कर देगा साथ – साथ आप लंबे समय तक स्वस्थ रहेंगे।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।