मकरासन करने के तरीके, सावधानियां और इनके फायदे

आज के दौर में लोग काफी जागरूक हो चुके हैं और बहुत से लोग योग और प्राणायाम करते हैं इनमें से एक योग है जिसका नाम है मकरासन तो आज हम आपको बताने वाले हैं बहुत ही जबरदस्त आसन के बारे में मकरासन शब्द संस्कृत से लिया गया है जो दो शब्दों से मिलकर बना है मकर का अर्थ मगरमच्छ और आसन का अर्थ मुद्रा से हैं जिस प्रकार मगरमच्छ शांत अवस्था में लेटे रहता है।

इस आसन को करने के लिए शांत मुद्रा में जमीन पर लेटना पड़ता है एक ऐसा आसन है जिसे आंख बंद रखकर श्वास लेने की क्रिया की जाती है इससे शरीर और दिमाग बिल्कुल शांत रहता है माइग्रेशन ,बेचैनी और मस्तिष्क से जुड़े विकार और डिप्रेशन दूर होता है बहुत से लोगों को सर दर्द की समस्या होती है तो यह आसन सर दर्द से निजात पाने के लिए बहुत ही असरदार होता है महिलाओं में प्रायः तौर पर कमर दर्द की समस्या होती है तो इस समस्या को दूर करने में भी आसन बहुत फायदेमंद होता है।

मकरासन करने के तरीके, सावधानियां और इनके फायदे

मकरासन को करने के तरीके और विधि-

अलग-अलग आसन को करने के अलग-अलग तरीके होते हैं तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि मकरासन को कैसे किया जाए क्योंकि किसी भी योग को को सही तरीके से किया जाए तभी उसका अधिक लाभ प्राप्त होता है आज हम आपको बता रहे हैं मकरासन करने का सही तरीका।

1. चटाई को जमीन पर बिछाकर पेट के बल लेट जाएं।
2. शरीर को सीधा रखें और पैरों को एकदम सीधे फैलाएं शरीर में अधिक तनाव नहीं होना चाहिए और शरीर को हल्का खींचकर भी रखा जा सकता है।
3. दोनों पैरों के बीच दूरी बराबर बनाए रखें।
4. इसके पश्चात अपने सिर, कंधों और सीनों को हल्का सा जमीन से ऊपर उठाएं।
5. दोनों हाथों की कोहनी को मोड़ें और कलाइयों को एक दूसरे के ऊपर इस प्रकार से रखें कि कोहनी मुड़ी हुई अवस्था में ही रहे।
6. इसके पश्चात हथेलियों को मोड़ने के बाद अपने सिर को इन्हीं हथेलियों के ऊपर टिकाएं और गहरी सांस लेते हुए आंखें बंद रखें।
7. दिमाग में सुविचार लाएं और दुनिया के तमाम चीजों को भूलकर केवल अपने आसन पर ध्यान केंद्रित करें और अच्छे से सांस लेते रहें।
8. कुछ समय पश्चात आंखें खोलें और पहले की अवस्था में लौट आएं।
9. इस आसन का अभ्यास 10 से 15 बार प्रतिदिन करें।

मकरासन करने का उपयुक्त समय – बहुत से आसन होते हैं जिनको करने का एक उपयुक्त समय होता है बाकी आसनों की अपेक्षा मकरासन बहुत अलग है इसका अर्थ यही है इस आसन का अभ्यास तनाव रहित मस्तिष्क और मन से किया जाता है क्योंकि मकरासन आराम की मुद्रा में लेटने की क्रिया है इस आसन को अभ्यास करने का उपयुक्त समय सुबह का समय होता है क्योंकि इसके लिए एकदम शांत वातावरण एवं जगह की जरूरत पड़ती है इस आसन को करने से पहले खाली पेट रहें किसी कारणवश आप शाम को इस आसन का अभ्यास करते हैं तो इसे करने के कुछ घंटे पहले तक कुछ भी नहीं खाएं तभी यह आसन फायदेमंद साबित होगा।

मकरासन के फायदे – हमने पहले भी यह बताया है कि मकरासन मन और मस्तिष्क को शांत रखने के लिए किया जाता है इसका सबसे अधिक फायदा मस्तिष्क को ही होता है तनाव की समस्या को दूर करने और दिमाग को एकाग्र करने मे यह आसन बहुत फायदेमंद होता है इनके अलावा भी मकरासन के अनेक फायदे होते हैं तो आज हम इन फायदों के बारे में बताते हैं।

पेट की बीमारियों को दूर करने में कारगर है मकरासन – इस आसन को करने से पेट की कई बीमारियां दूर होती हैं जैसे कब्ज की समस्या जो कि आज के समय में काफी लोगों को होती हैं तो इस आसन को करने से आप कब्ज की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं साथ ही यह मांसपेशियों को टोन करने में सहायक होता है। इसके साथ ही यह गर्दन की अकड़न को कम करती है पेट की मांसपेशियों को टोन करती हैं शरीर में होने वाले थकान और दर्द से राहत प्रदान करते हैं।

मकरासन मांसपेशियों के लिए होता है फायदेमंद – मकरासन का अभ्यास करने से मांसपेशियों में तनाव कम होता है मांसपेशियां अधिक मजबूत और लचीली बनती हैं साथ ही कंधों एवं रीढ़ की मांसपेशियों में तनाव कम होता है अधिकतर लोग जो मांसपेशियों से जुड़ी समस्याओं का सामना करते हैं उससे निजात पाने के लिए मकरासन का अभ्यास अवश्य करते हैं मकरासन से कूल्हों के मांसपेशियों को भी बेहतर बनाया जा सकता है।

अस्थमा के इलाज में मकरासन के फायदे – आज के परिवेश में लोगों को स्वस्थ वायु मिलना भी काफी हद तक कम हो चुका है और कई लोग स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से पीड़ित हैं जिनमें एक गंभीर बीमारी है अस्थमा अर्थात सांस ठीक से नहीं ले पान। मकरासन का अभ्यास करते समय गहरी सांस लेने एवं छोड़ने की प्रक्रिया से अस्थमा की बीमारी ठीक हो जाती है। इसके साथ ही मकरासन से फेफड़ों से संबंधित समस्याएं भी खत्म हो जाती हैं और घुटनों में होने वाले दर्द से भी छुटकारा पाया जा सकता है।

मकरासन के फायदे हृदय रोग रोगों के इलाज में- मकरासन को करने से मानसिक रोगों से छुटकारा तो मिलता ही है साथ ही इसका अभ्यास करने से हृदय रोगों से भी छुटकारा पाया जा सकता है हृदय संबंधी रोगों से बचने के लिए प्रत्येक दिन मकरासन का अभ्यास करना चाहिए क्योंकि इससे हमारा हृदय स्वस्थ रहेगा और अगर आपका हृदय स्वस्थ है तो आप अधिक तंदुरुस्त और मस्त जीवन जी पाएंगे।

मकरासन के लाभ स्पॉन्डिलाइटिस के इलाज में – मकरासन से कई तरह के बीमारियों से निजात दिलाने के साथ-साथ स्पॉन्डिलाइटिस बीमारी से भी निजात दिलाता है मकरासन को प्रत्येक दिन सही तरीके से करने पर इस बीमारी से छुटकारा पाए जा सकता हैं इस आसन से स्लिप डिस्क और साइटिका की समस्या भी दूर हो जाती है। और भी अनेक लाभ प्राप्त होते है ।

मकरासन करते समय सावधानियां – आमतौर पर देखा जाता है कि किसी भी निर्णय को लेने से पहले काफी सोचा और समझा जाता है ताकि किसी भी प्रकार की और अन्य समस्या ना हो तो उसी प्रकार से किसी भी आसन को करने से पहले कुछ सावधानियां भी हमें बरतनी चाहिए ताकि उस आशंका हमें लाभ मिले ना कि उससे हमें और किसी अन्य प्रकार की समस्या हो तो आज हम आपको बताने वाले हैं मकरासन करते समय किन किन सावधानियों को बरतना जरूरी होता है।

  • अगर आप स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी समस्या से परेशान हैं तो मकरासन का अभ्यास करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।
  • मकरासन को का अभ्यास करते समय मन को शांत रखें और अधिक तनाव पैदा ना करें तभी यह फायदेमंद साबित होगा।
  • शोरगुल वाली जगहों पर मकरासन का अभ्यास ना करें अन्यथा दिमाग एकाग्र नहीं होगा और इस आसन से आपको कोई लाभ नहीं होगा केवल आपका समय व्यर्थ होगा।
  • इस आसन का अभ्यास करते समय शरीर को सीधा रखना चाहिए किसी भी कौन पर घुमाना नहीं चाहिए अन्यथा इससे शरीर में और भी कई प्रकार की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं।
  • उक्त रक्तचाप की समस्या और अधिक मोटापे की समस्या आपको है तो आपको मकरासन का अभ्यास नहीं करना चाहिए।

अगर आप पीठ दर्द गर्दन दर्द और कमर दर्द से परेशान हैं या इन अंगों में किसी तरह की चोट लगी है तो इस आसन का अभ्यास करने से बचें अन्यथा यह समस्या और बढ़ सकती है।

उम्मीद है कि आज का हमारा यह पोस्ट काफी पसंद आया होगा अगर आपको इस तरह के रोमांचक और बेहतरीन जानकारी चाहिए तो हमारे ब्लॉग पर आने वाले प्रत्येक आर्टिकल्स को पढ़ सकते हैं।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।