जानिए कैसे पुरुषों की वर्जिनिटी की जा सकती है टेस्ट? क्या आपको मालूम था

जानिए कैसे पुरुषों की वर्जिनिटी की जा सकती है टेस्ट? क्या आपको मालूम था
जानिए कैसे पुरुषों की वर्जिनिटी की जा सकती है टेस्ट? क्या आपको मालूम था 2

वर्जिनिटी को लेकर कई तरह के सवाल पैदा होते हैं यदि आप भी उन्हीं में से हैं और वर्जिनिटी को लेकर के कोई मन में डाउट है या कोई शंका है तो इस चीज के बारे में हम इस आर्टिकल में पूरी इंफॉर्मेशन बताने वाले हैं। आज गूगल पर ढेरों ऐसे सर चीज आपको मिल जाएंगे जो वर्जिनिटी को लेकर खूब सर्च होता है। इस हेड लाइन को पढ़कर आप जरूर सोच रहे होंगे कि क्या जानना चाहते हैं।

आपको जानकर बड़ी हैरानी होगी कि आज गूगल पर हर महीना दो करोड़ से भी ज्यादा लोग सच कर रहे हैं क्या पुरुषों की वर्जिनिटी चेक की जा सकती है यह आंकड़ा आपको शायद यकीन नहीं होगा लेकिन यह सच है अब इसे देखकर तो माना जा रहा है कि इस टॉपिक में भी लोग काफी ज्यादा इंटरेस्ट रेट है और ऐसा भी लोग हैं जो इसके बारे में जानना चाह रहे हैं तो चलिए हम आपके इस डाउट को क्लियर करते हैं।

पुरुष वर्जिनिटी टेस्ट करने का कोई तरीका है?

मेल वर्जिनिटी टेस्ट करने को लेकर के कई तरह के सवाल सामने आए हैं लेकिन अगर इस विषय पर वास्तविकता से देखा जाए तो पुरुष वर्जिनिटी टेस्ट करने के लिए कोई तरीका नहीं है। अभी तक विज्ञान में और हमारे सुमन समुदाय में ऐसा कोई तरीका नहीं है जिसे प्रूफ नहीं कर सकते कि वर्जिनिटी सिद्ध हो सके। कई साइकोलॉजिस्ट और डॉक्टरों ने इस बारे में एक स्वर में बोल दिया है NO पुरुष वर्जिनिटी के लिए कोई टेस्ट नहीं है।

पुरुष वर्जिनिटी टेस्ट करने के मिथक तथ्य

पुरुषों के वर्जिनिटी टेस्ट करने की कई ऐसे और तरीका है लेकिन अभी तक इन्हें डॉक्टरों और क्लिनिकली तौर पर प्रमाणित नहीं किया गया है हम इस सवाल का जवाब देना चाहते थे कि आखिर वर्जिनिटी लोगों के लिए इतनी जरूरी क्यों है कि वह कुछ भी ट्राई करने के लिए तैयार हैं।

  • ऐसे मर्द जिनके घुटने डार्क होंगे वो वर्जिन होंगे।
  • थोड़ी ज्यादा सख्त रहेंगी उनकी वेन्स।
  • जब वो पहली बार आपसे सम्बन्ध बनाने वाले रहेंगे घबराए हुए से रहेंगे।
  • फोरप्ले के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होगी।
  • अच्छे से परफॉर्म नहीं कर पाएंगे।

लोगों के मन में आ रहे ऐसे सवाल को देखते हुए हमारे एक्सपर्ट और साइकोलॉजिस्ट ने इस बात को लेकर के जानना जरूरी समझा और लोगों को बताने के बारे में भी सोचा 19वीं सदी चली गई है जहां महिलाएं दबी जुबान से बैठ के एक कोने पर बैठी रहती थी अपनी अग्नि परीक्षा का इंतजार करती रहती थी अब तो बस लेडीस है और शायद यही कारण हैं कि उनके मन में भी अब सवाल नए-नए पैदा हो रहे हैं।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।