गर्भावस्था में पेट दर्द (एब्डोमिनल पेन) की समस्या को कैसे करें ठीक

महिलाओं के लिए गर्भवती होना उनके जीवन के लिए सबसे बड़ा खुशनुमा पल होता है इस पल में उन्हें कई तरह के अनुभव होते हैं और कई दर्द भी उन्हें झेलना पड़ता है यदि आप भी गर्भवती हैं और पेट से संबंधित कुछ समस्या झेल रहे हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें हम बताएंगे कि आपकी शरीर में जो बदलाव आ रहे हैं वह दर्द सामान्य हैं या फिर असामान्य है। 

गर्भावस्था में अधिकांश गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान कभी ना कभी पेट से संबंधित दर्द उन्हें महसूस होता है अगर आपकी गर्व अवस्था एकदम स्वस्थ चल रहा है तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं है। क्योंकि अधिकतर केस में देखा गया है कि गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द होना मरोड़ना सामान्य बात है।

गर्भावस्था में पेट दर्द (एब्डोमिनल पेन) की समस्या को कैसे करें ठीक
गर्भावस्था में पेट दर्द (एब्डोमिनल पेन) की समस्या को कैसे करें ठीक 2

गर्भावस्था में पेट दर्द क्यों होता है?

गर्भावस्था में महिलाओं के पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी असहजता महसूस होता है यह इसलिए होता है क्योंकि उनके पेट के मांस पेशियों जोड़ों और नसों के काफी क्षेत्र दबाव में होते हैं इस वजह से गर्भावस्था में पेट दर्द होना सामान्य है क्योंकि इस समय काफी नशे हमारी दबाव में रहती है। इस वजह से गर्भावस्था में पेट दर्द होना कोई बड़ी बात नहीं है।

गर्भावस्था के दौरान हड्डियों को जोड़ने वाला सबसे मजबूत उतक व अस्थि बंद (लिगामेंटस) आपकी गर्भावस्था शिशु को सहारा देते हैं इसलिए पूरी गर्भावस्था के दौरान उन में खिंचाव रहता है जिसके वजह से शरीर हिलने डुलने पर एक हल्का सा दर्द महसूस होता है। इस वजह से आठ अन्य संकुचन होता है इसलिए आपको मरोड़ का दर्द दाएं तरफ ज्यादा महसूस हो सकता है।

गर्भावस्था में पेट दर्द किस वजह से होता है

प्रेगनेंसी में पेट दर्द किन कारणों से होता है इसके बहुत से संभावित कारण हो सकते हैं मगर कभी-कभी या किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकता है इसे आप नजरअंदाज ना करें आप अपने परिवारिक डॉक्टर से इस विषय में सलाह जरूर लें कई बार गर्भावस्था में पेट दर्द केवल गैस या कब्ज की वजह से भी हो सकता है फिर भी आप अपनी तरफ से डॉक्टर को जरूर बताएं आपके साथ ऐसी समस्या हो रही है।

इन बातों को डॉक्टर को बताएं

  • क्या दर्द हल्का दर्द था या फिर यहां तीक्ष्ण दर्द था।
  • क्या आपके पेट में लगातार दर्द हो रहे हैं या फिर आप के चलने फिरने पर या हिलने डुलने पर दर्द हो रहे हैं।
  • दर्द कितना भारी है और यह दर्द कितने देर से हो रहा है।

जब भी आप अपने डॉक्टर के पास जा रहे हैं तो इन बातों को आप नोट करके जाएं और उन्हें इन सभी समस्याओं के बारे में बताएं ताकि डॉक्टर को भी चेकअप करने में और बीमारी को पता लगाने में आसानी हो जब तक आप डॉक्टर को पूरी जानकारी नहीं देंगे तब तक उनके लिए भी यहां कठिन हो सकता है इस वजह से आप इन बातों को डॉक्टर को जरूर बताएं।

  • रक्त स्त्राव का होना खून के धब्बे आना
  • उल्टी होना
  • बुखार आना
  • कपकपी होना
  • असामान्य योनिस्राव

कई बार अक्सर ऐसा होता है कि पेट से जुड़ी दर्द कोई बीमारी का संकेत देता है और यह हमारी गर्भावस्था से जुड़े नहीं होता है गर्भावस्था में अगर इस प्रकार से दर्द हो रही है तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

  • अंडाशय में गांठ
  • मूत्र मार्ग में संक्रमण या पथरी
  • पित्त की थैली से जुड़ी कोई परेशानी

अपेंडिसाइटिस

यह सारी समस्याएं गर्व से जुड़ी हुई समस्या हो सकती है यह संभव है कि आपकी प्रेगनेंसी की वजह से कोई समस्या हुई हो गर्भावस्था में गर्भधारण से पहले परेशान नहीं करते हैं लेकिन यदि गर्भवती होने पर इसके कारण असहजता हो सकती है कई बार ऐसा भी देखने में आया है कि संभोग करने और चरम उत्कर्ष पर पहुंचने से भी आपको संकुचन और हल्का पेट दर्द हो सकता है चरम उत्कर्ष पर पहुंचने से आपकी योनि और गर्भाशय से स्पंदन ऊपर की ओर पहुंच जाता है जिससे आपको बाद में मरोड़ जैसा महसूस हो सकता है।

गर्भावस्था में पेट दर्द से राहत के लिए क्या करें

गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था में एब्डोमिनल पेन से राहत पाने के लिए कुछ जरूरी उपाय अपनाने चाहिए इन उपायों को यदि आप पालन करते हैं तो आराम करने से आमतौर पर मरोड़ से या पेट दर्द से से जुड़ी समस्याएं से राहत पा सकते हैं जो निम्नलिखित प्रकार से हैं :-

  • जब पेट के कोई भाग में दर्द हो रहा है उस क्षेत्र में हल्की गर्म कपड़े थे सिकाई करें।
  • अचानक तेजी से उठाया बैठे नहीं इससे मरोड़ कम होने में मदद मिलेगी धीमी गति से बैठने और उठने की आदत बनाएं।
  • हल्के गर्म पानी से नहाए।

अपने डॉक्टर से सलाह लेकर प्रसव पूर्व विराम कक्षाओं की जानकारी लेकर हल्की स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज देती कि योग आदि से आराम मिल सकता है उनके बारे में जाने और जब तक आप हल्की एक्सरसाइज कर सकते हैं उनको घर पर रहकर जरूर करें।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।