खुशनुमा वैवाहिक जीवन के जीने लिए अपनाएं ये तरीके

खुशनुमा वैवाहिक जीवन के जीने लिए अपनाएं ये तरीके
खुशनुमा वैवाहिक जीवन के जीने लिए अपनाएं ये तरीके 2

आज के इस वर्तमान दौर में हर क्षेत्र में महंगाई बढ़ती जा रही है इस वजह से हमारे पॉकिट पर भी असर हो रहा है और यह असर हमारे शादी शुदा जीवन में भी पद रहा है यदि आप भी शादीशुदा हैं और अपने शादीशुदा जीवन में खुशहाली चाहते हैं तो आज हम आपको इस पोस्ट में कुछ ऐसे तरीके बताने वाले हैं जिन तरीकों को पालन करके आप अपने मैरिज लाइफ को हैप्पी नहीं कर सकते हैं और अपने पॉकिट को हमेशा गरम रख सकते है।

शादी के बाद हमारे जीवन में कई तरह के बदलाव आते हैं हमारे खर्चे भी डबल हो जाते हैं साथ ही साथ हमारे लिए घर की जिम्मेदारियों के साथ-साथ जिस लड़की के साथ विवाह करते हैं उनके परिवार वाले की भी हमें कुछ जिम्मेदारी मिल जाती है इस वजह से हमारे व्यवहारिक जीवन में पैसों से जुड़े मामले बढ़ जाते हैं और हमारी लेनदेन की जो सीमा होती है कहीं ना कहीं बढ़ जाती है इस वजह से हम इस पोस्ट में कुछ ऐसे तरीके बताने वाले हैं जो हमारे जेब में पढ़ने वाले पैसों की कमी को कहीं ना कहीं पूरा कर सकती है।

खुशनुमा वैवाहिक जीवन के लिए अपनाएं ये तरीके

ख़र्च करने के तौर-तरी़के

हर व्यक्ति का पैसे को लेकर अपना एक नजरिया होता है कोई सेविंग पर ध्यान देता है उसके बाद घर का खर्चा या अन्य कोई अपनी जरूरत की चीजों को पूरा करता है तो कोई ऐसा होता है जो पहले खर्चा करता है बाद में बचे हुए पैसे को अपने फ्यूचर के लिए जमा करता है यदि आप भी उन लोगों में शामिल हैं जो पहले खर्च करना पसंद करते हैं बाद में सेविंग करते हैं तो आप गलत कर रहे हैं ऐसे में आपके पास कभी भी पैसे नहीं बचेंगे जैसा आपका कार्य चल रहा है वैसा ही चलता रहेगा भविष्य में आप एक अच्छी योजना नहीं बना पाएंगे।

उधार की आदत ना बनायें

कई बार ऐसा होता है हमारे साथ कि हम अपने दोस्त यार या अपने कोई फैमिली मेंबर से पैसे उधार लेते हैं और अपनी जरूरत को पूरा करते हैं लेकिन यह आदत हमारे भविष्य में हमारे लिए बुरी आदत बन सकती है और हमें इसका आदत बन सकता है इस वजह से यदि आप शादीशुदा हैं तो इस आदत को जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी छोड़ दे। अक्सर देखा जाता है कि यदि कोई व्यक्ति उधार लेता है या किसी को उधार देता है तो पैसों को लेकर उन दोनों के बीच में भविष्य में मतभेद होने की संभावना लगभग बढ़ जाती है इस वजह से आप अपने दोस्तों से और रिश्तेदारों से उधार में पैसा ना ले।

पारिवारिक जिम्मेदार के लिए अपनाये ये तरीका

हमारे आसपास या हमारे परिवार में ऐसे बहुत से लोग हैं जो अपने जीवन में पैसों को लेकर उनका मत बहुत ही अलग है यदि आप भी अपना परिवार चला रहे हैं और इस बढ़ती हुई महंगाई में बच्चों की परवरिश में होने वाले खर्चों के लेकर ज्यादा सोच रहे हैं या किसी भी तरह से कोई तनाव में हैं तो आपको पैसे को लेकर ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है जो भी कार्य कर रहे हैं उसे ईमानदारी पूर्वक करें और उस काम को बेहतर – बेहतर करने की कोशिश करें ताकि परिवार चलाने में पैसों की कमी ना पड़े।

मां-बाप और सास-ससुर का ख़र्च

शादी के बाद ऐसा होता है कि पति अपने माता पिता का खर्च उठाता है कई बार ऐसा होता है कि अपने माता पिता के साथ – साथ अपने ससुराल पक्ष के माता-पिता का भी खर्च उठाना पड़ता है यदि ससुराल पक्ष कमजोर है और वे अपने घर का खर्च नहीं उठा पा रहे है तो इस बात को लेकर कई बार पति के मन में हमेशा तनाव बना रहता है और इस तनाव से वह उभर नहीं पाता है अगर आप भी इस तरह के कोई समस्या में फंसे हुए हैं तो आपस में पति पत्नी के बीच में इस बात को लेकर सलाह ले ले और जो बेहतर हो ऐसा करें ताकि आपको पैसों का दिक्कत ना हो।

चोरी-छुपे ख़र्च करने की आदत

शादी के बाद कई बार ऐसा होता है कि लड़का अपने माता-पिता से कम प्यार करता है और अपने पत्नी के प्रति उसका लगाव बढ़ जाता है साथ – साथ उसके भाई बहनों से भी उसका लगाव कम होता जाता है और पत्नी के साथ चोरी-छिपे खर्च करने की आदत बन जाती है यदि आप भी उन लोगों में शामिल है और ऐसा कर रहे हैं तो रिश्तो में अविश्वास पैदा कर देती है यह सारी स्थितियां पति पत्नी के साथ साथ पूरे परिवार का माहौल खराब कर सकता है इस बात का विशेष रूप से ध्यान दें और ऐसा बिल्कुल भी ना करें।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।