नेचुरल तरीकों से प्रेगनेंसी रोकने के लिए अपनाये ये 3 आसान तरीके

नेचुरल तरीकों से प्रेगनेंसी रोकने के लिए अपनाये ये 3 आसान तरीके
नेचुरल तरीकों से प्रेगनेंसी रोकने के लिए अपनाये ये 3 आसान तरीके 2

हालांकि इनफर्टिलिटी की समस्‍या आजकल बहुत ज्यादा बढ़ गई है लेकिन बहुत सारे प्रेमी जोड़े ऐसे भी हैं जो प्रेगनेंसी के लिए तैयार नहीं होते हैं। अगर आप भी अभी बच्चा नहीं चाहते हैं तो आज हम आपको प्रेगनेंसी को रोकने के कुछ ऐसे बहुत ही जबरदस्त प्राकृतिक तरीके बता रहे हैं जो बहुत ज्यादा असरदार हैं।

आज के वर्तमान दौर में इनफर्टिलिटी समस्‍या काफी बढ़ गई है। कंसीव करना शादी के बाद हर कपल की जिंदगी का बहुत खास अवसर होता है पहली बार पेरेंट्स बनने की खुशी शायद शब्दों में बयां नहीं की जा सकती। अभी के समय में ऐसे हालत है कि हर 4 में से 1 कपल को कंसीव करने में समस्या आ रही है। और यही कारण है कि आजकल Surrogacy ,IUI, IVF , और Test Tube Baby की बहुत ज्यादा डिमांड है। और दूसरी तरफ कुछ ऐसे कपल्‍स भी होते हैं जो बहुत से कारणों से प्रेगनेंसी के लिए तैयार नहीं होते हैं लेकिन जाने-अनजाने में कंसीव हो जाता है।

ऐस लोग जो उस समय पर बेबी नहीं चाहते हैं वो गर्भधारण को अवॉइड करने के लिए बाजार से दवाएं, इंजेक्‍शन और सप्‍लीमेंट जैसी चीजें का उपयोग करते हैं। अगर आप भी ऐसा करने का सोच रहे हैं तो हम आपको बताना चाहेंगे कि इससे आपकी सेहत पर बहुत ज्यादा बुरा प्रभाव पड़ता है और हो सकता है और अगली बार जब आप कंसीव करना चाहेंगी तब बहुत सारे दिक्‍कतें आ सकती है। अगर आप भी उन लोगो में से हैं जिनका कंसीव तो हो गया है लेकिन अभी बेबी नहीं चाहती हैं तो आज हम कुछ अनचाही प्रेगनेंसी को रोकने के कुछ ऐसे प्राकृतिक तरीके बता रहे जिनके कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं और ज्यादा असरदार हैं।

प्रेगनेंसी को रोके नीम के पत्तो से : नीम के पत्‍ते नेचुरल तरीकों में से एक हैं जिससे अनचाही प्रेगनेंसी को रोक सकते है । क्योकि , नीम के पत्‍तों के सेवन से शरीर में स्‍पर्म की मूवमेंट कम हो जाती है। और अगर पुरुष नीम की पत्तियों की या गोलियों का सेवन करें तो इससे अस्‍थायी प्रेगनेंसी को रोका जा सकता है। कॉन्ट्रासेप्टिव या गर्भनिरोधक के लिए नीम को बहुत तरीकों से इस्‍तेमाल किया जा सकता है। जैसे कि नीम का तेल ,नीम के पत्तो का सेवन, और नीम का जूस आदि। इसके अलावा नीम के तेल को वजाइन वाल्‍स पर भी लगाया जा सकता है, सम्भोग से पहले कॉटन की बॉल में नीम का तेल डालें इसे वजाइना (ज्‍यादा अंदर नहीं, क्‍योंकि ये फंस सकता है) में डालें और 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें। इसका प्रभाव 5 घंटे तक रहता है। नीम का तेल जबरदस्‍त लुक्रिकेंट के रूप में भी काम करता है और इससे वजाइनल इंफेक्‍शन से भी बचा जा सकता है।आपको किसी तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या है तो नीम के पत्तो का उपयोग करने से पहले डॉक्‍टर की सलाह ले सकते है।

अजमोद या Parsley या का उपयोग करके गर्भधारण को रोका जा सकता है –

भारतीय आयुर्वेद में बहुत सारे औषधि होते हैं उनमें से एक औषधि है अजमोद जिसका उपयोग हम गर्भधारण को रोकने के लिए कर सकते हैं इसका उपयोग हर्बल टी के रूप में किया जाता है अगर आप बच्चा नहीं चाहते हैं और कंसीव हो गया है तो आप अजमोद का सेवन करके इससे बच सकते हैं इसका बहुत हल्का असर होता है किसी प्रकार से इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है इसका सेवन करने के लिए आप अजमोद की सूखी ताजी पत्तियों को पानी में उबाल लें और इस को फिर छानकर कप में निकाल ले और फिर से आप चाय के रूप में सेवन कर सकते है। अगर आप चाहे तो डॉक्टर की सलाह ले सकते है।

अदरक के जड़ों का उपयोग करके गर्भधारण को रोका जा सकता है –

बहुत कम लोग जानते हैं कि अनचाही प्रेगनेंसी को रोकने के लिए अदरक की जड़े बहुत असरदार होती है इसमें मेंस्ट्रूअल ब्लीडिंग तेज होती है और गर्भधारण के चांस बहुत कम हो जाते हैं इसका सेवन करने के लिए हम पानी में भीगे हुए अदरक को 5 से 10 मिनट तक उबालते हैं और फिर अब इसको छानकर एक कप में निकालते हैं और ठंडा कर लेते हैं ठंडा होने के बाद इसको पीते हैं इसके बेहतर रिजल्ट के लिए आप इसको दिन में 2 बार सेवन कर सकते हैं वैसे ही तो अदरक का किसी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं होता है मगर आपको अदरक सूट नहीं करता तो इसका सेवन करने से पहले आप डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

नोट : मुझे यकीन है आपको ये हमारी पोस्ट पसंद आयी होगी और किसी भी तरह से कोई दिक्कत आती है तो कमेंट करके बताएं हम आपकी मदद करेंगे इस पोस्ट को दोस्तों के साथ सोशल मीडिया में शेयर करें।